Breaking News
Home 25 अपराध 25 पढ लिखकर बनना था इंजीनियर, पहुंच गया जेल, क्योंकि अय्याशी के लिए करने लगा था लूट

पढ लिखकर बनना था इंजीनियर, पहुंच गया जेल, क्योंकि अय्याशी के लिए करने लगा था लूट

Spread the love

गाजियाबाद: राजधानी से सटे गाजियाबाद में सिहानी गेट पुलिस ने बीटेक के स्टूडेंट सचिन को गिरफ्तार किया है. सचिन ने शुक्रवार को अपने दोस्त पंकज के साथ साइबर कैफे में लूट की वारदात को अंजाम दिया था. साइबर कैफे में से लूटे हुए 1 लाख 25 हजार रुपये भी पुलिस ने सचिन से बरामद कर लिए हैं.

रोजाना जाते थे साइबर कैफे

एसपी सिटी के मुताबिक सचिन का साथी पंकज बीसीए का छात्र है. दोनों छात्रों ने अय्याशी के खर्चे पूरे करने के लिए इस लूट की प्लानिंग की थी. साथ ही कहा कि पंकज की तलाश जारी है. दोनों छात्र सहारनपुर के रहने वाले हैं और गाजियाबाद में आकर रह रहे थे. इनके निशाने पर साइबर कैफे कई दिनों से था.

बताया जा रहा है कि दोनों छात्र पहले भी साइबर कैफे पर जा चुके थे. इन्होंने वहां जाकर इस बात को देख लिया था कि साइबर कैफे में रोजाना कितने रुपये की कमाई होती है और यह भी देख लिया था कि साइबर कैफे का मालिक कब बैंक जाकर रुपये जमा कराता है. इन्हें अंदाजा लग गया था कि साइबर कैफे में अच्छी खासी रकम रखी हुई है. इसलिए दोनों तमंचे के बल पर लूट की वारदात को अंजाम दिया था.

तमंचे के इंतजाम की तफ्तीश

पुलिस इस तरफ भी पड़ताल कर रही है कि इन दोनों के पास तमंचा कहां से आया. इन्होंने तमंचे के बल पर ही वारदात को अंजाम दिया था. साइबर कैफे में बैठे हुए लोग भी काफी ज्यादा खौफजदा हो गए थे. पुलिस ने वारदात होने के बाद काफी जल्दी एक आरोपी की गिरफ्तारी कर ली है, जिससे साइबर कैफे के मालिक ने भी राहत की सांस ली है.

About admin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*