Breaking News
Home 25 स्वास्थ्य 25 एक्सीडेंट में समझौते के बीद भी पुलिस ने एक माह तक नहीं छोड़ा ट्रक, फिर बदले गए टायर

एक्सीडेंट में समझौते के बीद भी पुलिस ने एक माह तक नहीं छोड़ा ट्रक, फिर बदले गए टायर

Spread the love

गाजियाबााद। सड़क दुर्घटना के एक मामले में इंदिरापुरम पुलिस द्वारा एक ट्रांसपोर्टर के ट्रक को एक माह तक कब्जे में रखने और ट्रक के करीब दो लाख रूपए चोरी कराने का मामला प्रकाश में आया है। इस मामले में ट्रांसपोर्टर द्वारा एसएसपी को शिकायत की गई है और एसएसपी से मांग की है कि वह इंदिरापुरम पुलिस को ट्रक के असली टायर दिलाने के आदेश दें। साथ ही इतने दिन तक ट्रक को न छोड़ने के मामले में चौकी इंचार्ज के खिलाफ कार्रवाई करें।

यूपी बॉर्डर स्थित परिवहन ट्रांसपोर्टर कंपनी के फ्लीट मैनेजर कश्मीर सिंह ने बताया कि उऩकी कंपनी के 10 टायरा ट्रक संख्या एनएल-01एडी- 1277 का अक्टूबर महीने के दूसरे सप्ताह में कनावनी गांव के पास एक्सीडेंट हो गया था। एक कार चालक पीछे से ट्रक के नीचे घुस गया। जिसकी वजह से कार का बोनट क्षतिग्रस्त हो गया। इस मामले में ट्रक के चालक की कोई गलती इसलिए नहीं थी कि क्योंकि कार का चालक पीछे से पिछले पहिये की चपेट में आया। लेकिन इसके बावजूद कार चालक से 19 अक्टूबर को समझौता हो गया। जिसका लिखित समझौता उन्होंने कनावनी चौकी इंचार्ज रविता चौधरी को दिखाया। लेकिन वह एक महीने तक उन्हें चक्कर कटवाती रही।

आखिरकार 21 नवंबर को उन्होंने ट्रक को चार हजार रूपए लेकर छोड़ दिया। लेकिन ट्रक में स्टैपनी समेत सभी 11 टायर पुराने लगाए गए थे। कश्मीर सिंह के मुताबिक ट्रक केवल 12 हजार किलोमीटर चला है। लेकिन जो टायर उसमें लगाए गए वो पूरी तरह से घिस चुके है। ट्रक के असली टायरों को निकाला गया था। जिसकी शिकायत एसएसपी से की गई है और उनसे न्याय की गुहार लगाई गई है। इस पूरे मामले में चौकी इंचार्ज की भूमिका संदिग्ध मानी जा रही है, क्योंकि वह पूरे एक माह तक ट्रांसपोर्टर को चौकी के चक्कर लगवाती रही।

About admin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*