Breaking News
Home 25 स्वास्थ्य 25 अखिल भारतीय वाल्मीकि महासभा ने की प्रथम क्रांतिकारी मातादीन वाल्मीकि का स्मारक बनवाने की मांग

अखिल भारतीय वाल्मीकि महासभा ने की प्रथम क्रांतिकारी मातादीन वाल्मीकि का स्मारक बनवाने की मांग

Spread the love

कोलकाता। पश्चिम बंगाल के बैरकपुर जिले में अखिल भारतीय वाल्मीकि महासभा की राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक में कई प्रस्ताव पास किए गए जिसमें प्रमुख रुप से भारत के प्रथम क्रांतिकारी मातादीन वाल्मिकी को स्वतंत्रता सेनानी घोषित करने और उनका स्मारक बनाए जाने की मांग रही। महासभा ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मांग की कि वह मातादीन वाल्मीकि का स्मारक बनवाकर वाल्मीकि समाज को सम्मान देने का काम करें।

महासभा की राष्ट्रीय कार्यकारिणी में जिन मुद्दों पर चर्चा है उनमें मुख्य रूप से भारत के प्रथम क्रांतिकारी मातादीन वाल्मीकि को स्वतंत्रता सेनानी घोषित करने और उनका राष्ट्रीय स्मारक बनाये जाने की मांग की गई। यही नहीं वाल्मीकि समाज के लोगों को राज्यसभा, विधान परिषद और विधानसभा में भेजे जाने हेतु केंद्र की मोदी सरकार से मांग की। राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक में यह भी प्रस्ताव पास हुआ कि भारत के सभी प्रांतों में जहां पर सफाई कर्मचारी आयोग नहीं है, वहां पर संवैधानिक सफाई कर्मचारी आयोग का गठन किया जाए। बैठक में ऐलान किया गया कि नागपुर से अयोध्या तक महर्षि वाल्मीकि यात्रा प्रारंभ की जाएगी, जिसमें देश भर से वाल्मीकि समाज के प्रतिनिधि शामिल होंगे।

यह प्रस्ताव पूरे देश से आए वाल्मीकि प्रतिनिधियों ने सर्वसम्मति से पास किए। इस अवसर पर अखिल भारतीय वाल्मीकि महासभा के राष्ट्रीय अध्यक्ष डॉक्टर जीएस विश्नार व राष्ट्रीय पदाधिकारी के अलावा 18 प्रदेशों के अध्यक्ष उपस्थित रहे। कार्यक्रम का संचालन अखिल भारतीय वाल्मीकि महासभा के राष्ट्रीय महामंत्री रामगोपाल राजा ने किया। इस अवसर पर उत्तर प्रदेश के प्रदेश अध्यक्ष प्रदीप चौहान वाल्मीकि सहित अट्ठारह प्रदेशों के प्रदेश अध्यक्ष मौजूद रहे।

About admin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*