Breaking News
Home 25 देश 25 राज्यसभा उपचुनाव: BJP का ब्राह्मण कार्ड, क्या हैं राजनीतिक मायने

राज्यसभा उपचुनाव: BJP का ब्राह्मण कार्ड, क्या हैं राजनीतिक मायने

Spread the love

नई दिल्ली. उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) और बिहार (Bihar) की दो राज्यसभा (Rajya Sabha) सीटों के लिए बीजेपी (BJP) ने उम्मीदवारों का ऐलान कर दिया है. यूपी से सुधांशु त्रिवेदी (Sudhanshu Trivedi) और बिहार से सतीश दुबे (Satish Dubey) बीजेपी के उम्मीदवार होंगे. 4 अक्टूबर यानी  शुक्रवार तक ही नामांकन दाखिल करने की आखिरी तारीख है. इस लिहाज से बीजेपी ने गुरुवार देर शाम ही दोनों सीट के लिए उम्मीदवारों का ऐलान कर दिया.

बीजेपी(BJP) ने जिन दो नामों का ऐलान किया है, उसके बड़े राजनीतिक मायने हैं. बिहार विधानसभा चुनाव (Bihar Assembly Election) को देखते हुए पार्टी को एक युवा ब्राह्मण चेहरे की जरूरत थी, जो पार्टी को मजबूती दे. वहीं यूपी में भी एक ब्राह्मण चेहरे की जरूरत थी, जो केंद्र में सशक्त आवाज बने. यूपी में बीजेपी का ब्राह्मण चेहरा रहे कलराज मिश्र (Kalraj Mishra) को पिछले दिनों ही राजस्थान का राज्यपाल बनाया गया था.

कई दिग्गजों के चर्चे थे, लेकिन बीजेपी ने एक बार फिर चौकाया
बता दें कि उत्तर प्रदेश की एक सीट के लिए जिन नामों की चर्चा थी, उसमें राज्य बीजेपी के पूर्व प्रदेश अध्यक्ष लक्ष्मीकांत वाजपेयी (Laxmikant Bajpai) और मनोज सिन्हा (Manoj Sinha) का नाम प्रमुखता से लिया जा रहा था. साथ ही पार्टी के महासचिव अरुण सिंह और पूर्व केंद्रीय राज्य मंत्री और शाहजहांपुर से पूर्व सांसद कृष्णा राज का भी नाम चल रहा था.

वहीं बिहार की एक सीट पर बीजेपी की तरफ से पार्टी प्रवक्ता शाहनवाज हुसैन (Shahnwaz Hussain) और जेडीयू के तरफ से पार्टी के प्रधान महासचिव केसी त्यागी (KC Tyagi) का नाम प्रमुखता से चल रहा था, लेकिन एनडीए में सहमति बनने के बाद बिहार की राज्यसभा की यह सीट बीजेपी के कोटे में चली गई. इस सीट को लेकर जेडीयू भी अपना दावा ठोक रही थी.

दो राज्यसभा सीटों पर बीजेपी ने खेला ब्राह्मण कार्ड
बता दें कि यूपी से राज्यसभा प्रत्याशी घोषित हुए सुधांशु त्रिवेदी काफी लंबे समय से पार्टी के प्रवक्ता के तौर पर काम कर रहे थे. त्रिवेदी, टीवी चैनलों पर मजबूती से पार्टी का पक्ष रखते रहे हैं. साथ ही उनको ब्राह्मण चेहरा होने का लाभ मिला है. पार्टी को एक ब्राह्मण चेहरे की तलाश थी, जो कलराज मिश्र की भरपाई कर सके.

About admin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*