Breaking News
Home 25 खेल 25 IPL 2019, SRH vs DC: रबाडा-पॉल-मौरिस की घातक बोलिंग, दिल्ली ने हैदराबाद को 39 रनों से हराया

IPL 2019, SRH vs DC: रबाडा-पॉल-मौरिस की घातक बोलिंग, दिल्ली ने हैदराबाद को 39 रनों से हराया

Spread the love

नई दिल्ली। दिल्ली कैपिटल्स (DC) ने इंडियन प्रीमियर लीग (IPL) के 12वें सत्र के 30वें मुकाबले में सनराइजर्स हैदराबाद (SRH) को 39 रनों से हरा दिया। हैदराबाद के राजीव गांधी स्टेडियम में 155 रनों का औसत स्कोर बनाने के बाद दिल्ली की टीम ने कागिसो रबाडा (22/4), कीमो पॉल (17/3) और क्रिस मौरिस (22/3) की घातक गेंदबाजी की बदौलत धाकड़ बल्लेबाजों से भरी हैदराबाद टीम को उसके ही मैदान पर 116 रनों के स्कोर पर ऑलआउट कर दिया। इस तरह सीजन में यह उसकी 8 मैचों में 5वीं जीत है और पॉइंट टेबल में 10 अंको के साथ दूसरे स्थान पर पहुंच गई है। चेन्नै की टीम 14 पॉइंट के साथ नंबर एक स्थान पर है। कीमो पॉल को मैन ऑफ द मैच चुना गया।

हैदराबाद की शानदार शुरुआत
156 रनों के लक्ष्य का पीछा करने उतरी हैदराबाद की टीम ने धीमी, लेकिन सधी शुरुआत की। वॉर्नर और बेयरस्टो ने पहले विकेट के लिए 72 रन जोड़े। जबरदस्त फॉर्म में चल रहे डेविड वॉर्नर शुरुआत में थोड़ा असहज नजर आए, लेकिन जॉनी बेयरस्टो ने शुरुआत से ही आक्रामक बैटिंग शुरू कर दी। 8वें ओवर की तीसरी गेंद पर हैदराबाद की हाफ सेंचुरी पूरी हुई। इसके अगले ही ओवर (9वें ओवर में) में डेवड वॉर्नर और बेयरस्टो ने मिलकर अक्षर पटेल को 15 रन ठोक डाले। इसमें वॉर्नर का सिक्स और बेयरस्टो का फोर शामिल रहा। 

विलियमसन हुए सस्ते में आउट
इस खतरनाक जोड़ी को कीमो पॉल ने पारी के 10वें ओवर में तोड़ी। पॉल की बेहद चतुराई से फेंकी गई स्लोवर गेंद पर बेयरस्टो बड़ी हिट लगाना चाहते थे, लेकिन गेंद बल्ले पर नहीं आई और वह लॉन्ग ऑफ पर कागिसो रबाडा के हाथों कैच आउट हो गए। उन्होंने 31 गेंदों में 5 फोर और एक सिक्स की मदद से 41 रन की पारी खेली। चोट के बाद वापसी कर रहे कप्तान केन विलियमसन कुछ खास नहीं कर सके और कीमो पॉल की गेंद पर रबाडा के हाथों लपके गए। उनका विकेट 78 रनों के टीम स्कोर पर गिरा। 

वॉर्नर की फिफ्टी
78 रन पर दो विकेट गंवाने के बाद वॉर्नर ने रिकी भुई (7) के साथ तीसरे विकेट के लिए 23 रन ही जोड़े थे कि पॉल ने एक बार फिर इस साझेदारी को तोड़ दिया। उन्होंने भुई को अक्षर पटेल के हाथों कैच कराया। भुई के आउट होने के बाद वॉर्नर भी अपना अर्धशतक बनाकर रबाडा का शिकार बन बैठे। रबाडा ने वार्नर को कप्तान श्रेयस अय्यर के हाथों कैच कराया। वॉर्नर ने 47 गेंदों पर तीन चौके और एक छक्का लगाया। रबाडा ने अगली ही गेंद पर विजय शंकर (1) को भी चलता किया। रबाडा हैटट्रिक पर थे, लेकिन वह चूक गए। 

यूं गिरे विकेट्स
हैदराबाद की टीम एक समय दो विकेट पर 101 रन बनाकर मजबूत स्थिति में थी लेकिन फिर इसके बाद वह मात्र 15 के अंदर ही अपने बाकी के आठ विकेट गंवाकर 18.5 ओवर में 116 रन पर ढेर हो गई। दिल्ली के लिए रबाडा ने 22 रन पर सबसे ज्यादा चार विकेट लिए। उनके अलावा पॉल ने 17 रन पर तीन विकेट और मौरिस ने 22 रन पर तीन विकेट हासिल किए। 

दिल्ली की पारी का रोमांच
इससे पहले खलील अहमद (30/3) और भुवनेश्वर कुमार (33/2) की घातक गेंदबाजी की बदौलत सनराइजर्स हैदराबाद ने दिल्ली कैपिटल्स को 7 विकेट पर 155 रन पर रोक दिया। दिल्ली की टीम एक समय 13वें ओवर में तीन विकेट पर 110 रन बनाकर अच्छी स्थिति में थी, लेकिन खलील, भुवनेश्वर कुमार और राशिद खान (22/1) की धारदार गेंदबाजी के सामने अंतिम 7 ओवर में 45 रन ही जोड़ सकी। दिल्ली की ओर से कप्तान श्रेयस अय्यर ने सर्वाधिक 45 रन बनाए, जबकि कोलिन मुनरो ने 40 रन का योगदान दिया। ऋषभ पंत ने भी 23 रन बनाए। 

मुनरो के 40 रन
कोलिन मुनरो (40) ने इस बीच आक्रामक तेवर अपनाए। उन्होंने संदीप शर्मा पर दो चौके जड़ने के बाद खलील की लगातार गेंदों पर चौका और छक्का मारा। मुनरो ने खलील के अगले ओवर में भी छक्के और चौके के साथ पावरप्ले में टीम का स्कोर दो विकेट पर 51 रन तक पहुंचाया। मुनरो ने अभिषेक शर्मा का स्वागत छक्के के साथ किया, लेकिन बाएं हाथ के इस स्पिनर के इसी ओवर में विकेटकीपर बेयरस्टो को कैच दे बैठे, जिससे कप्तान श्रेयस अय्यर के साथ उनकी 49 रन की साझेदारी का अंत हुआ। उन्होंने 24 गेंद का सामना करते हुए चार चौके और तीन छक्के मारे। 

अय्यर-पंत ने जोड़े 56 रन
अय्यर और ऋषभ पंत ने इसके बाद पारी को आगे बढ़ाया। सनराइजर्स के गेंदबाजों ने इस बीच सधी हुई गेंदबाजी की जिससे दिल्ली पर दबाव बना। कप्तान अय्यर इसी दबाव के बीच रन गति बढ़ाने की कोशिश में भुवनेश्वर की गेंद पर विकेटकीपर बेयरस्टो को कैच दे बैठे। उन्होंने 40 गेंद का सामना करते हुए पांच चौके मारे और पंत के साथ 56 रन जोड़े। पंत भी अगले ओवर में खलील की गेंद पर दीपक हुड्ड को कैच दे बैठे। उन्होंने 19 गेंद में तीन चौकों की मदद से 23 रन बनाए। कीमो पाल (7) ने अंतिम ओवर में भुवनेश्वर पर छक्के के साथ टीम का स्कोर 150 रन के पार पहुंचाया, लेकिन अगली गेंद पर पगबाधा हो गए। 

About admin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*