Breaking News
Home 25 राज्य 25 देवबंद: कांग्रेस ने भाजपा को फायदा पहुंचाने के लिए खड़े किए उम्मीदवार

देवबंद: कांग्रेस ने भाजपा को फायदा पहुंचाने के लिए खड़े किए उम्मीदवार

Spread the love

सहारनपुर। लोकसभा चुनाव 2019 में भारतीय जनता पार्टी के बाद अब महागठबंधन भी जोश में है। सहारनपुर के देवबंद में ‘सामाजिक न्याय से महापरिवर्तन’ महारैली में बहुजन समाज पार्टी की मुखिया मायावती ने भाजपा के साथ प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर जमकर हमला बोला। उनके साथ समाजवादी पार्टी के मुखिया अखिलेश यादव तथा राष्ट्रीय लोकदल के चौधरी अजित सिंह के निशाने पर भी भाजपा के साथ केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार थी।

देवबंद में सहारनपुर-मुजफ्फरनगर स्टेट हाईवे के देवबंद में कासिमपुरा गांव के तिब्बियां कालेज के निकट मैदान में मायावती जमकर गरजीं। मायावती ने कांग्रेस पर हमला बोलते हुए कहा कि कांग्रेस ने कई सीटों पर ऐसे प्रत्याशी खड़े किए हैं जो भाजपा को फायदा पहुंचा रहे हैं। उन्होंने कहा कि चुनाव के वक्त ही खाट यात्रा याद आती है। मायावती ने मुसलमानों को कहा कि आपका वोट बंटना नहीं चाहिए, आप सभी गठबंधन को एकतरफा वोट करें।

सहारनपुर में मुसलमानों को मालूम है कि यहां के बसपा प्रत्याशी का टिकट हमने पहले ही घोषित कर दिया था लेकिन कांग्रेस ने जानबूझ कर भाजपा को जिताने के लिए मुस्लिम प्रत्याशी दिया। हमारे कार्यकर्ताओं का हर पोलिंग और सेक्टर लेवल पर जिम्मेदारी हैं कि हमारा एक भी वोट ना बंटने पाए। कांग्रेस ने मुझे मिलने वाले वोटों को बांटने के लिए ऐसी जाति और धर्म के उम्मीदवारों को टिकट दिया है जिससे भाजपा जीत जाए। उन्होंने कहा कि चुनाव के वक्त ही खाट यात्रा याद आती है। कांग्रेस ने मुझे मिलने वाले वोटों को बांटने के लिए ऐसी जाति और धर्म के उम्मीदवारों को टिकट दिया है जिससे भाजपा जीत जाए।

कांग्रेस पर बोला हमला-मुसलमान को साधने का प्रयास

मायावती ने कहा कि कांग्रेस मानकर चल रही है हम जीतें या न जीतें, गठबंधन नहीं जीतना चाहिए, इसलिए उसने बीजेपी को फायदा पहुंचाने वाले उम्मीदवार उतारे हैं। उन्होंने कहा कि मैं मुस्लिम समाज को कहना चाहती हूं कि अगर भाजपा को हराना है तो भावनाओं में बहकर वोट को बांटना नहीं है। मायावती ने कहा कि सहारनपुर में बड़ी तादाद में बसपा का बेस वोट है और अब तो जाट भाई में साथ आ गए हैं। उन्होंने कहा कि पश्चिम यूपी में सभी धर्मों के लोग रहते हैं। सहारनपुर, मेरठ, मुरादाबाद और बरेली मंडल में मुस्लिम समाज की आबादी काफी ज्यादा है।

मायावती ने कहा कि मैं इस चुनाव में मुस्लिम समाज के लोगों को सावधान करना चाहती हूं कि पूरी यूपी में भाजपा को टक्कर देने के लायक कांग्रेस नहीं है। मायावती ने सहारनपुर लोकसभा सीट का उदाहरण देते हुए कहा कि यहां के मुसलमानों को मालूम है कि बसपा ने बहुत पहले अपने मुस्लिम कैंडिडेट का टिकट फाइनल कर दिया था। कांग्रेस को पता है कि सहारनपुर में उसे कोई और वोट मिलने वाला नहीं है। मैं कहना चाहती हूं कि मुस्लिम समाज को अपना वोट बांटना नहीं है, बल्कि गठबंधन उम्मीदवार को वोट देकर कामयाब बनाना है।

इससे पहले इनकी दादी इंदिरा गांधी भी गरीबी हटाओ का बीस सूत्रीय नाटकबाजी कार्यक्रम चला चुकीं हैं। कांग्रेस पार्टी चाहती है कि हम जीतें या ना जीतें गठबंधन नहीं जीतना चाहिए। कांग्रेस भी प्रलोभन दे रही है। मायावती ने जनता से किया कहा कांग्रेस को वोट देकर अपना वोट बर्बाद न करें। कांग्रेस-भाजपा को गरीबी हटाने का ध्यान चुनाव के समय पर ही क्यों आता है। यह भी आपको सोचना होगा। गरीबी पैसों से नहीं रोजगार से खत्म होगी।

मायावती- हमारी सरकार बनी तो छह हजार नहीं, हर हाथ को रोजगार देंगे

उन्होंने कहा कि चुनाव के वक्त ही भाजपा को फिल्मी कलाकार व मंदिर याद आते हैं। आरोप लगाया कि मोदी ने चुनाव प्रचार में हजारों करोड़ रुपये खत्म किए। उन्होंने प्रलोभन वाले घोषणापत्र पर विश्वास न करने की भी अपील की। मायावती ने कहा कि पीएम ने सरकारी खजाने को लूटा दिया। आज देश की सीमा सुरक्षित नहीं है। भाजपा की सरकर में आरक्षण व्यवस्था कमजोर रही है। मोदी की देश भक्ति सामने आई, पूलवामा हमले के दिन भाजपा ने कार्यक्रम किया। मायावती ने कहा कि पीएम नरेंद्र मोदी को देश की कोई भी चिंता नही है। वह तो अपनी पार्टी भाजपा की ब्रांडिंग में लगे हैं। अब उनको गठबंधन से डर लग रहा है। यह तो तय है कि अब उत्तर प्रदेश से भाजपा जा रही है और गठबंधन पूर्ण बहुमत के साथ आ रहा है। पीएम मोदी सिर्फ गरीबों का साथ देने का नाटक कर रहे हैं। उनका पूरा ध्यान तो धन्ना सेठों को और अमीर बनाने का है।

देवबंद में गठबंधन की रैली में बसपा सुप्रीमो ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर जमकर निशाना साधा। माया ने कहा कि यहां की भीड़ देखकर मोदी पगला जाएंगे। कहा कि भाजपा जा रही है और गठबंधन आ रहा है। भाजपा की जुमलेबाजी अब काम नहीं आएगी। कहा कि भाजपा ने सरकारी खजाना खाली कर दिया है। मोदी ने चुनाव घोषित होने से पहले बजट में राजनीतिक लाभ लेने की कोशिश की। भाजपा की गलत नीतियों से किसान दुखी है। लोगों को गुमराह किया जा रहा है। मायावती ने कहा कि अगर हमें केंद्र सरकार बनाने का मौका मिला तो सभी राज्यों को सख्त निर्देश दिए जाएंगे ताकि किसानों का बकाया नहीं रखा जाएगा। मायावती ने कहा कि महागठबंधन की तस्वीर देखने के बाद पीएम मोदी हैरान। वह इसको देख भी रहे होंगे, लेकिन अब तो गठबंधन के सामने इनके छोटे-बड़े चौकीदार कुछ भी कर लें कुछ नहीं कर पाएंगे। अब तो भाजपा को सत्ता गंवानी है। जनता भी सब जान चुकी है। हमारे गठबंधन से मोदी घबराकर पगला जाएंगे।

मायावती ने कहा कि हमारी सरकार के सत्ता में आने के बाद किसी का भी कुछ बकाया नहीं रह जाएगा। देश के हर राज्य में दलितों व आदिवासियों का कोटा खाली पड़ा है। हर जगह पर भाजपा ने नाटक फैला रखा है, लेकिन अब इनका कोई नाटक नहीं चलेगा। मायावती ने पीएम मोदी पर साधा निशाना कहा कि मोदी सरकार पूंजीपतियों को धनवानों बनाती रही है। हम कांग्रेस तथा भाजपा की तरह लोगों से झूठा वादा नहीं करेंगे। केंद्र में अगर हमारी सरकार बनती है तो हम सरकारी तथा गैर सरकारी संस्थानों में लोगों को नौकरी देंगे। जिससे कि वह लोग अपना तथा परिवार का पेट पाल सकें।

मायावती ने कहा कि पीएम मोदी का 15 लाख का वादा मजाक बनकर रह गया। राज्यों से कांग्रेस के साथ भाजपा गलत नीतियों से बाहर हुई है। अब दोनों को बिल्कुल बाहर कर देना है। उन्होंने कहा कि बसपा कभी घोषणा पत्र नहीं जारी करती है। हमको अपनी योजना तथा कार्यशैली पर भरोसा है। हमारा काम किसी के भी घोषणा पत्र पर भारी रहता है।

ईवीएम से छेडछाड न हुई तो गठबंधन जीतेगा

मायावती ने कहा कि अगर ईवीएम में छेड़छाड न हुई तो गठबंधन की जीतना तय है। कहा कि दलित आदिवासियों का कोटा आज भी खाली पड़ा है। अल्पसंख्यकों की हालत भी ठीक नहीं है। चौकीदारी की नाटकबाजी मोदी को नहीं बचा पाएगी। उन्होंने कहा कि चुनाव आते ही भाजपा घबरा गई है। लंबे समय तक शासन करने वाली कांग्रेस गलत नीतियों के कारण हारी है। मायावती ने कहा कि देश की सीमाएं सुरक्षित नहीं हैं। सबका साथ, सबका विकास महज जुमला साबित हुआ है। पीएम मोदी पूंजीपतियों को और धनवान बना रहे हैं। मायावती ने कहा कि राफेल में घोटाला हुआ। मायावती ने कांग्रेस पर भी जमकर निशाना साधा।

अखिलेश यादव बोले- भाजपा ने अंग्रेजों से ज्यादा समाज को बांटा

बसपा मुखिया के बाद माइक संभालने वाले समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव ने भारतीय जनता पार्टी को सत्ता के नशे में चूर बताया।  सपा सुप्रीमो अखिलेश यादव ने कहा कि सराब (शराब) बोलने वाले सत्ता के नशे में हैं। जिसे वह मिलावट का गठबंधन बता रहे हैं वह महापरिवर्तन का गठबंधन है। नया प्रधानमंत्री बनाने का गठबंधन है। उन्होंने कहा कि यह चुनाव इतिहास बनाने का चुनाव है। कहा कि यहां ऐसे लोग आए जो नफरत के अलावा कुछ नहीं बोले। उनके वादे कहां है। अच्छे दिन कहां हैं। कोई भी वादा पूरा नहीं किया। चुनाव आए तो चौकीदार बनकर आ गए। नफरत फैलाने वालों को पहचानिए।

अखिलेश यादव ने कहा कि  मैं जनता के सामने भरोसा दिलाना चहाता हूं कि यही गरीब किसान मिलकर एक एक चौकीदार की चौकी छीनने का काम करेंगे। कहा कि जीएसटी से बडे लोगों को लाभ हुआ होगा। हमारे छोटे व्यापारीयो को कोई लाभ नहीं हुआ है। उनका कोई कारोबार आगे नहीं बढ़ा है। कहा कि अंग्रेजों से ज्‍यादा भाजपा ने समाज को बांट दिया है। बीएसपी और एसपी ने जितना देश को जोड़ा है उतना बीजेपी ने नहीं किया। कहा कि कांग्रेस की नीतियां ही बीजेपी की नीतियां है। कांग्रेस बदलाव नहीं पार्टी बनाना चाहती है।  कांग्रेस व बीजेपी में कोई फर्क नहीं है।

अखिलेश यादव ने कहा कि हम सहारनपुर में है, यह तो एक ऐसी पवित्र धरती है, जहां एक तरफ शाकंभरी तो दूसरी तरफ दारुल उलूम है। अखिलेश यादव ने कहा कि यह  देश को बदलने का चुनाव है। हमारी आपके बीच की दूरियां मिटाने का चुनाव है। उन्होंने कहा कि यहां एक तरफ जहां मां शाकंभरी देवी का मंदिर हैं वहीं दूसरी तरफ दारुल उलूम। यहां शाकंभरी में लोग माता के दर्शन करने आते हैं वहीं दारुल उलूम में पढ़कर मोहब्बत का पैगाम बांटते हैं। अखिलेश ने कांग्रेस पर भी जमकर निशाना साधा। इसके साथ ही उन्होंने कहा कि भाजपा वाले भी झूठ न बोलने का संकल्प लें। अखिलेश यादव ने कहा कि हमने तो झूठ न बोलने का संकल्प ले ही रखा है। नवरात्र पर आज भाजपा वाले भी यह संकल्प ले लें कि वे झूठ नहीं बोलेंगे।

अजित सिंह के बोल-मोदी के मां-बाप ने सच बोलने की नहीं दी सलाह

बसपा मुखिया मायावती व समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव के बाद महागठबंधन के महामंच से राष्ट्रीय लोकदल के मुखिया चौधरी अजित सिंह ने कहा कि पीएम मोदी जी दिन में तीन सूट बदलते हैं। वह तो देश-विदेश घूमते हैं और कहते है कि फकीर आदमी हूं। भगवान हमको भी ऐसा फकीर बना दे। राष्ट्रीय लोकदल सुप्रीमो चौधरी अजित सिंह ने कहा कि बच्चे को क्या सिखाते हो आप की बेटा सच बोला कर, मोदी के मां-बाप ने उसको सच बोलने की सलाह नहीं दी है। मोदी साहब वादा किए थे, हर आदमा की जेब में 15 लाख रुपए आएगा। देश का पीएम झूठ बोलता है? ना, ये झूठ नहीं बोलता, ये कभी सच नहीं बोलता। बच्चे को क्या सिखाते हो आप की बेटा सच बोला कर, मोदी के मां-बाप ने उसको सच बोलने की सलाह नहीं दी है।

अजित सिंह ने कहा कि संविधान ने ताकत दी है कि हर पांच साल में सरकार बदली जा सकती है, लेकिन अब हालात बदल रहे हैं। अजित सिंह ने कहा कि भाजपा के नेता कहते हैं कि मोदी 50 वर्ष राज करेगा और भाजपा सांसद साक्षी महाराज कहते हैं कि आखिरी चुनावा है। मैं भी आप लोगों से कहता हूं कि संविधान ने हमको ताकत दी है कि हर पांच साल में सरकार बदली जा सकती है उसका इस्तेमाल कीजिए। आरएलडी सुप्रीमो चौधरी अजित सिंह ने कहा भाजपा पिछले पांच साल में कुछ नहीं कर पाई। गांवों में किसान कहते है कि मोदी-योगी उनका फसल चर रहे हैं। इस रैली की भीड़ देखकर लग रहा है कि भाजपा का सूपड़ा साफ हो गया है। अब तो उनका सत्ता से बाहर होना तय हो गया है।

पश्चिम उत्तर प्रदेश की पहले चरण की 8 लोकसभा सीटों के लिए 11 अप्रैल को मतदान होंगे। इनमें सहारनपुर, कैराना, मेरठ, मुजफ्फरनगर, बागपत, बिजनौर, गाजियाबाद व गौतमबुद्धनगर सीट है। 2014 के लोकसभा चुनाव में इन आठों सीटों को भाजपा ने जीता था। कैराना सीट पर हुए उपचुनाव में भाजपा को मात खानी पड़ी थी और बसपा-सपा के समर्थन से आरएलडी ने जीत दर्ज करने में कामयाब रही थी।

रैली खत्म होते ही माया-अखिलेश और अजीत सिंह की होर्डिंग लूटने की मची होड़

सहारनपुर के देवबंद में महागठबंधन के तहत चुनाव लड़ रही समाजवादी पार्टी और बहुजन समाज पार्टी की पहली रैली खत्म होने के बाद वहां मौजूद सपा-बसपा और आरएलडी के कार्यकर्ताओं में मंच पर लगी होर्डिंग को लूटने की होड़ मच गई। जैसे ही अखिलेश और मायावती हेलीकॉप्टर में बैठकर रैली स्थल से रवाना हुए, वहां मौजूद कार्यकर्ता मंच पर लगे होर्डिंग को उखाड़ कर अपने साथ ले जाने लगे। होर्डिंग लूटने की जानकारी मिलने पर मौके पर मौजूद सपा-बसपा और आरएलडी ने नेताओं ने कार्यकर्ताओं को खदेड़ा।

पश्चिम यूपी के सहारनपुर संसदीय सीट के अंतर्गत देवबंद के अलावा बेहट, सहारनपुर, सहारनपुर देहात और रामपुर मनिहारन विधानसभा सीटें आती हैं। इन सभी सीटों पर मुस्लिमों की आबादी अच्छी खासी है। सपा-बसपा गठबंधन ने यहां से हाजी फजलुर रहमान को उम्मीदवार बनाया है, तो वहीं कांग्रेस ने इमरान मसूद को टिकट दिया है। भाजपा ने सांसद राघव लखनपाल को उतारा है।

इमरान मसूद ने 2014 के लोकसभा चुनाव में करीब 4.07 लाख वोट हासिल किए थे। इसके बाद भी भाजपा के राघव लखनपाल ने करीब 66 हजार वोटों से जीत दर्ज की थी। इस बार यहां ऐसे में इस बार यहां त्रिकोणीय मुकाबला देखने को मिल रहा है, जहां मुस्लिम बंटने की संभावना बेहद अधिक दिख रही है।

About admin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*