BEARKING NEWS
Home / NCR-गाज़ियाबाद / युद्ध लड़ने की ताकत नहीं, आए दिन घुसपैठ करता है पड़ोसी: पीएम

युद्ध लड़ने की ताकत नहीं, आए दिन घुसपैठ करता है पड़ोसी: पीएम

Spread the love

साहिबाबाद: केंद्रीय औद्योगिक सुरक्षा बल (सीआइएसएफ) के स्थापना दिवस पर इंदिरापुरम पहुंचे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने पाकिस्तान पर निशाना साधा। पाकिस्तान का नाम लिए बिना उन्होंने कहा कि युद्ध लड़ने में नाकाम पड़ोसी हमारे देश में घुसपैठ करता है। साजिश भी रचता है लेकिन जवानों के जज्बे से हम सुरक्षित हैं। आज मैं और पूरा देश उन परिवारों को सैल्यूट करता है जिन्होंने अपने बच्चों को देश की रक्षा के लिए खाकी वर्दी पहनाई है। वीआइपी कल्चर हमारे देश की सुरक्षा के लिए खतरा है। ये बातें प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रविवार को इंदिरापुरम स्थित सीआइएसएफ की पांचवी रिजर्व बटालियन के परेड ग्राउंड पर कहीं।

पीएम नरेंद्र मोदी रविवार सुबह दस बजे सीआइएसएफ के स्थापना दिवस पर इंदिरापुरम पहुंचे थे। उनके साथ केंद्रीय गृह राज्य मंत्री किरण रिजिजू, केंद्रीय विदेश राज्य मंत्री वीके सिंह, प्रदेश के खाद्य एवं रसद मंत्री अतुल गर्ग, प्रदेश के गन्ना विकास मंत्री सुरेश राणा भी मौजूद रहे। पीएम ने बटालियन के प्रांगण में बनाए गए शहीद स्मारक का लोकार्पण किया। इसके बाद उन्होंने सीआइएसएफ के जवानों को मेडल देकर सम्मानित किया। सीआएसएफ के डीजी राजेश रंजन ने प्रधानमंत्री को प्रतीक चिह्न देकर सम्मानित किया। उन्होंने कहा कि सीआइएसएफ एकमात्र ऐसा सुरक्षा बल है जो प्रतिदिन मेट्रो में तीस लाख और एयरपोर्ट पर आठ लाख लोगों की सुरक्षा करता है। आने वाले समय में सीआइएसएफ देश के सभी बड़े संस्थानों की सुरक्षा का जिम्मा उठाने के लिए पूरी तरह तैयार है।

सौभाग्य है कि बड़े फैसले लेने का मौका मिला

उधर, पीएम ने सर्जिकल स्ट्राइक और एयरस्ट्राइक का जिक्र करते हुए कहा कि महज सरकार के फैसला लेने से एक फोर्स खड़ी नहीं हो जाती। फोर्स बनाने के लिए सैकड़ों लोगों को बलिदान देना पड़ता है। बीते कुछ दशकों में जितने घाव आतंक ने दिए हैं वह असहनीय है। सबसे ज्यादा घाव फोर्स के जवानों और उनके परिवारों को मिले हैं। पिछले दिनों पुलवामा और उड़ी में जो हुआ वह बहुत पीड़ा देता है, लेकिन हम यह पीड़ा अनंत काल तक नहीं सह सकते। किसी ना किसी को कहीं ना कहीं एक बड़ा फैसला लेना ही पड़ता। यह मेरा सौभाग्य है कि करोड़ों देशवासियों की ताकत के साथ मैंने कुछ बड़े फैसले लिए और उन फैसलों से सेना का सम्मान बढ़ा। इसके बाद जवानों के परिवार के सदस्यों ने मोदी-मोदी के नारे लगाए।

वीआइपी कल्चर बड़ा खतरा

पीएम ने कहा कि इस देश में वीआइपी कल्चर सबसे बड़ा खतरा है। सुरक्षा बल वीआइपी की तलाशी लेते हैं तो वह यहां तक कह देते हैं कि मैं तुम्हे देख लूंगा। इसके बावजूद सीआइएसएफ व अन्य सुरक्षाबल उन्हें सुरक्षित रखते हैं। इसके लिए वे बधाई के पात्र हैं। उन्होंने कहा कि देश का पड़ोसी सुरक्षा बलों से आमने-सामने का युद्ध लड़ने में सक्षम नहीं है। ऐसे में वह घुसपैठ और अन्य छद्म तरीके अपनाकर देश पर हमला करता है। इसके बावजूद हम सुरक्षित हैं क्योंकि सीआइएसएफ और अन्य सुरक्षा बलों के जवान हमारी रक्षा में मुस्तैद हैं।

50 वर्ष पूरे करना बड़ी उपलब्धि

पीएम ने कहा कि सीआइएसएफ एक ऐसा संगठन है जो रोजाना मेट्रो में तीस लाख लोगों की और एयरपोर्ट पर सफर करने वाले आठ लाख लोगों की सुरक्षा करता है। एक वीआइपी की सुरक्षा करना आसान है, लेकिन हर एक आम आदमी को सुरक्षित करना मुश्किल। ऐसी ही सुरक्षा देने वाले और अपने 50 वर्ष पूरे करने वाले सीआइएसएफ के हर एक जवान को बधाई। 50 वर्ष पूरे करना सीआइएसएफ के लिए उपलब्धि है। एयरपोर्ट और मेट्रो स्टेशनों पर डिजिटल म्यूजियम बनाया जाए जिसमें लोग सीआइएसएफ के जवानों के जीवन और संघर्ष को देख सकें। उन्होंने केरल की बाढ़ में राहत कार्य करने वाले सीआइएसएफ का आभार व्यक्त किया।

बेटियों और उनके माता-पिता का अभिनंदन है

पीएम ने कहा कि बेटियों को कमांडो बनकर परेड देखते हुए गर्व की अनुभूति हो रही है। बेटियां न सिर्फ सीआईएसफ बल्कि देश को एक नई ताकत देती हैं। उन लोगों का अभिनंदन है जिन्होंने अपनी बेटियों को यूनिफॉर्म पहनाकर सीआइएसएफ और अन्य फोर्स में भर्ती कराया। बेटियों का सभी फोर्स में अभिनंदन है। पीएम ने कहा कि सीआइएसएफ को ऐसी टास्क फोर्स बनानी चाहिए जो आतंकियों की कार्यप्रणाली का अध्ययन करे। साथ ही उनके ऑपरेशन को नेस्तनाबूद करने में अहम भूमिका निभाए। इस दौरान सीआइएसएफ के कमांडो ने वीआइपी के अपहरण और बस हाईजेक करने की मॉक ड्रिल की तो प्रधानमंत्री तालियां बजाते दिखाई दिए।

About Pradeep Verma

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*

x

Check Also

मनोहर पर्रिकर के निधन के बाद भाजपा के प्रमोद सावंत बने नए मुख्‍यमंत्री, रात 2 बजे ली शपथ

Spread the love पणजी। गोवा के मुख्यमंत्री मनोहर पर्रीकर के निधन के बाद विधानसभा स्पीकर ...