BEARKING NEWS
Home / व्यापार / लापरवाही से नाराज RBI, ICICI-यस बैंक पर एक-एक करोड़ रुपये का जुर्माना

लापरवाही से नाराज RBI, ICICI-यस बैंक पर एक-एक करोड़ रुपये का जुर्माना

Spread the love

नई दिल्ली। स्विफ्ट मैसेजिंग सॉफ्टवेयर से जुड़े दिशानिर्देशों का पालन नहीं किए जाने के मामले में सख्त रुख अपनाते हुए भारतीय रिजर्व बैंक (आरबीआई) ने निजी क्षेत्र के यस बैंक और आईसीआईसीआई बैंक पर एक करोड़ रुपये का जुर्माना लगाया है।

यस बैंक के अलावा इलाहाबाद बैंक पर आरबीआई ने 2 करोड़ रुपये का जुर्माना लगाया है। इलाहाबाद बैंक के खिलाफ जहां नास्त्रो अकाउंट से जुड़े दिशानिर्देशों का पालन नहीं किए जाने के मामले में जुर्माना लगा है, वहीं यस बैंक और आईसीआईसीआई बैंक के खिलाफ स्विफ्ट से जुड़े दिशानिर्देशों का पालन नहीं किए जाने के मामले में जुर्माना लगा है।

स्टॉक एक्सचेंज को दी गई जानकारी में यस बैंक ने कहा, ‘आरबीआई ने स्विफ्ट (SWIFT) से जुड़े नियामकीय दिशानिर्देशों का पालन नहीं किए जाने के मामले में बैंक पर कुल एक करोड़ रुपये का जुर्माना लगाया है।’

वहीं आईसीआईसीआई बैंक ने स्टॉक एक्सचेंज को बताया है कि बैंकिंग नियमन एक्ट 1949 के तहत कुल एक करोड़ रुपये का जुर्माना लगाया गया है। यह जुर्माना आरबीआई के दिशानिर्देशों के मुताबिक स्विफ्ट से जुड़े नियंत्रण को समय पर लागू नहीं करने की वजह से लगा है। स्विफ्ट, वैश्विक स्तर पर इस्तेमाल होने वाला मैसेजिंग सॉफ्टवेयर है, जिसका इस्तेमाल बैंक और वित्तीय संस्थाएं सभी तरह के वित्तीय लेन-देन में करती हैं।

गौरतलब है भारतीय बैंकिंग सेक्टर का अब तक का सबसे बड़ा घोटाला भी इसी मैसेजिंग सॉफ्टवेयर के दुरुपयोग की वजह से हुआ था। पंजाब नैशनल बैंक (पीएनबी) को घोटाले की वजह से करीब 14,000 करोड़ रुपये की चपत लगी थी। घोटाला सामने आने के बाद से केंद्रीय बैंक सभी तरह के नियमन को सख्त करने पर जोर दे रहा है।

स्विफ्ट मैसेजिंग सॉफ्टवेयर के इस्तेमाल से जुड़े दिशानिर्देशों का पालन नहीं किए जाने के मामले में आरबीआई ने सोमवार को तीन बैंकों, कर्नाटक बैंक, यूनाइटेड बैंक ऑफ इंडिया और करुर वैश्य बैंक पर 8 करोड़ रुपये का जुर्माना लगाया था। इससे पहले भारतीय स्टेट बैंक, यूनियन बैंक, देना बैंक और आईडीबीआई बैंक ने स्टॉक एक्सचेंज को आरबीआई की तरफ से लगाए गए जुर्माने के बारे में जानकारी दी थी। आरबीआई ने यूनियन बैंक पर तीन करोड़ रुपये, देना बैंक पर दो करोड़ रुपये जबकि आईडीबीआई और एसबीआई पर एक-एक करोड़ रुपये का जुर्माना लगाया था।

क्या है स्विफ्ट?

स्विफ्ट का पूरा नाम सोसाएटी फॉर वर्ल्डवाइड इंटरबैंक फाइनैंशियल टेलीकम्युनिकेशंस है। यह मैसेजिंग नेटवर्क है, जिसके जरिए बैंक और वित्तीय संस्थान पैसों के लेन-देन की जानाकारी साझा करते हैं। मंगलवार को बंबई स्टॉक एक्सचेंज (बीएसई) में यस बैंक का शेयर बेहद मामूली गिरावट के साथ 237.30 रुपये पर बंद हुआ।

About Pradeep Verma

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*

x

Check Also

15 करोड़ यूजर्स पर Adware अटैक! गूगल ने हटाए ऐप्स आप भी हटाएं

Spread the love नई दिल्ली। गूगल प्ले और मैलवेयर का रिश्ता पुराना है. गूगल इन्हें ...