BEARKING NEWS
Home / NCR-गाज़ियाबाद / न्यू बस अड्डा मेट्रो स्टेशन का नाम शहीद स्मारक रखने की मांग तेज

न्यू बस अड्डा मेट्रो स्टेशन का नाम शहीद स्मारक रखने की मांग तेज

Spread the love

गाजियाबाद : गाजियाबाद में दो मेट्रो स्टेशनों के नाम बदलने की मांग तेजी पकड़ने लगी है। विभिन्न संस्थाओं एवं स्वयं सेवी सेवी संगठनों के अलावा राष्ट्रीय सैनिक संस्था भी नाम बदलने के आंदोलन में शामिल है। शुक्रवार को नया बस अड्डा मेट्रो स्टेशन का नाम बदलकर शहीद स्मारक मेट्रो स्टेशन किए जाने की मांग राष्ट्रीय सैनिक संस्था ने उठाई और मजिस्ट्रेट यशवर्धन श्रीवास्तव को मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ और डीएमआरसी के एमडी मंगू सिंह के नाम संबोधित ज्ञापन सौंपा। ज्ञापन में संस्था ने चेतावनी दी है कि अगर नाम नहीं बदला गया तो उद्घाटन कार्यक्रम का विरोध किया जाएगा।

संस्था के राष्ट्रीय अध्यक्ष वीर चक्र प्राप्त कर्नल तेजेंद्र पाल त्यागी ने बताया कि नया बस अड्डा मेट्रो स्टेशन का नाम यदि शहीद स्मारक नहीं बदला गया तो जनता के साथ उद्घाटन कार्यक्रम का विरोध करने का निर्णय लिया गया है। उन्होंने बताया कि नए बस अड्डे के सामने शहीद स्मारक हुआ करता था। मेट्रो लाइन पड़ने के बाद इसे शिफ्ट किया गया लेकिन तब अधिकारियों ने मेट्रो स्टेशन का नाम शहीद स्मारक रखने का आश्वासन भी दिया था। इस मौके पर महासचिव एडवोकेट वीसी बंसल, एडवोकेट सुधीर त्यागी, लीलावती, संध्या त्यागी सहित अन्य मौजूद रहे। इसके साथ ही रसम संस्था ने मेट्रो स्टेशन का नाम शहीदों के नाम पर रखने के लिए जिला मुख्यालय पर चल रहे अनिश्चितकालीन धरने के दौरान बुद्धि-शुद्धि यज्ञ किया। संयोजक संदीप त्यागी ने बताया कि रोजाना आर्य समाज की विभिन्न कमेटियां धरना स्थल पर बुद्धि-शुद्धि यज्ञ करेंगी। इस मौके पर विनीत, अनिल कुमार, महेश कुमार शर्मा, कृपाल सिंह, इंद्रजीत भदौरिया, रवि कटारिया, राजेंद्र प्रसाद आदि मौजूद रहे।

आपको बता दें कि बुधवार को भारतीय जनता पार्टी के वरिष्ठ नेता व पूर्व मंत्री बालेश्वर त्यागी, पृथ्वी सिंह कसाना, रमेश चंद तोमर, विजय मोहन बलदेवराज शर्मा, हिमांशु लव, सचिव सोनी गाजियाबाद विकास प्राधिकरण के उपाध्यक्ष से भी मिल चुके हैं। संयुक्त व्यापार मंडल के चेयरमैन अशोक भारतीय ने कहा कि व्यापार मंडल को उम्मीद है कि प्रशासनिक अधिकारी महानगर और जिले भर की मांग को समझते हुए शहीदों के सम्मान से जुड़े हुए इस विषय का शीघ्र समाधान निकालेंगे और स्टेशन का नाम बदल कर शहीद स्मारक स्टेशन रखेंगे।

वहीं श्री सांई परिवार समिति के पदाधिकारियों ने हिंडन रीवर मेट्रो स्टेशन का नाम बदलकर सांई उपवन और नया बस अड्डा मेट्रो स्टेशन का नाम शहीद स्मारक रखे जाने की मांग की। समिति के सचिव राजकुमार ने दिल्ली मेट्रो कार्पोरेशन के एमडी मंगू सिंह को भेजे पत्र में कहा है कि न्यू बस अड्डा बहुत बाद में बना है। 1857 के संग्राम में शहीद हुए सैनिकों के सम्मान में शहीद स्थल बनाया गया था। सैनिकों के सम्मान में इस स्थान का नाम बदलकर शहीद स्मारक रखा जाए। प्रदर्शन में प्रमोद सांई, रवि वर्मा, श्रीराम सहित काफी संख्या में लोग मौजूद थे।

About Pradeep Verma

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*

x

Check Also

UPTIF ने शहीद जवानों को दी श्रद्धांजलि

Spread the love गाजियाबाद। टेक्निकल इंस्टीटूशन्स फाउंडेशन ऑफ़ उत्तर प्रदेश (UPTIF) द्वारा कश्मीर के पुलवामा ...